Home

Welcome to your new site.

Welcome to your new site! You can edit this page by clicking on the Edit link. For more information about customizing your site check out http://learn.wordpress.com/

Latest from the Blog

तुम कौन हो?

क्या तुम्हारे अस्तित्व परसवाल उठाती है तुम्हारी ही उंगलियां?क्या विरोध करती हैतुम्हारी रूह कई दफा तुमसे?क्या तुम यही हो ,या वो हो जो अभी तक नहीं हो।.क्या तुम्हें भी दिखता है अंधेरा औरदूर एक रोशनी सी नजर आती है,और उस तक पहुंचने से पहले खुल जाती है,तुम्हारी आंखें,यही सपना तुम्हे रोज़ ऐसे नाकाम करता हो।.क्याContinue reading “तुम कौन हो?”

ग़ौर करें।

बार बार लिखे दर्द, बार बार मिटाए।यही होता आया है, अब कहां को जाए।.मेरे भीतर लगे हैं सारे जाले,कोई बैठें, कोई तो इन्हें मिटाए।.मीरा को तो मिल गए गिरधर,कोई विष का प्याला हमें पिलाए।.जी घुटता है हर एक ताल्लुक से,किसे तो मारे, किसे गले लगाए।

Get new content delivered directly to your inbox.

Create your website at WordPress.com
Get started